मेरी कहानी: अपने पति को खुश करने के लिए मैंने शराब पीना शुरू कर दिया लेकिन...

मेरे पति को पार्टियों में जाना बहुत पसंद है। उसका एक बड़ा फ्रेंड सर्कल भी है, जिनके साथ वह अक्सर हैंगऑउट करने के लिए बाहर जाता रहता है।

मेरी कहानी: अपने पति को खुश करने के लिए मैंने शराब पीना शुरू कर दिया लेकिन...
X

किसी ने बिल्कुल ठीक कहा है कि शादी आपको पूरी तरह से बदल सकती है। ऐसा इसलिए क्योंकि अगर जीवन साथी अच्छा हो तो, आपकी किस्मत खुल जाती है। वहीं खराब जीवन साथी के साथ जिंदगी किसी सजा से कम नहीं लगती।

हालांकि, किसी से शादी करने पर आपको प्यार-खुशी और सुरक्षा का अनुभव होता है, लेकिन मेरे साथ ऐसा नहीं हुआ। दरअसल, जब मैंने अपने पति से शादी की, तो मैं मुझे लगा था कि मुझे इस रिश्ते में वो सब कुछ मिलेगा, जिसकी मैं हकदार हूं। शायद ऐसा इसलिए क्योंकि शादी करने से पहले हम दोनों ने एक-दूसरे को 6 साल तक डेट किया था।

मुझे लगा कि मैं अपने पति के बारे में सब कुछ जानती हूं, लेकिन मैं गलत थी। दुर्भाग्य से समय के साथ हम दोनों के बीच चीजें बदल गईं। यही एक वजह भी है कि मैं अपनी शादीशुदा जिंदगी में अपनी लाइफ का सबसे बुरा हिस्सा अनुभव कर रही हूं। (सभी तस्वीरें सांकेतिक हैं, हम यूजर्स द्वारा शेयर की गई स्टोरी में उनकी पहचान गुप्त रखते हैं)

मैंने एक ऐसे इंसान से शादी की थी, जिसे अपनी सामाजिकता से बहुत ज्यादा प्यार है। वह हमेशा इस बात का बहुत ध्यान रखता है कि लोग उसके बारे में क्या सोचते हैं। हालांकि, यह बहुत अच्छी बात है, लेकिन कभी-कभार यह आपके लिए बहुत बड़ी समस्या बन जाती है। ऐसा इसलिए क्योंकि इन सबके बीच वह मुझे भूल जाता है।

वह मेरी सभी जरूरतों को भूल जाता है। उसे इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि मुझे कैसा लग रहा है। वह न केवल अपने आसपास के लोगों को खुश करने में व्यस्त हो जाता है बल्कि इस दौरान उनकी जरूरतों को पूरा करने भी लग जाता है।

दरअसल, मेरे पति को पार्टियों में जाना बहुत पसंद है। उसका एक बड़ा फ्रेंड सर्कल भी है, जिनके साथ वह अक्सर हैंगऑउट करने के लिए बाहर जाता रहता है। हालांकि, इन पार्टियों में उसके दोस्तों की पत्नियां भी शामिल होती हैं, जो काफी स्पोर्टी और मजेदार हैं। ऐसे कई मौके आए हैं, जब मैं भी अपने पति के साथ डिनर और पब में पार्टी करने गई हूं।

मेरे लिए यह काफी मजेदार अनुभव रहा है, लेकिन मेरा पति इस सबसे खुश नहीं होता। ऐसा इसलिए क्योंकि वह इस बात से नफरत करता है कि मैं उसके दोस्तों की पत्नियों की तरह पीती नहीं हूं।मैं आपसे छिपाना नहीं चाहती मैंने अपनी जिंदगी में कभी भी शराब को हाथ नहीं लगाया था। मुझे इसका स्वाद पसंद भी नहीं था। शायद ऐसा इसलिए क्योंकि मुझे अच्छे से पता था कि शराब पीने के बाद लोग अपनी सीमा भूल जाते हैं जबकि मुझे नियंत्रण में रहना पसंद है। लेकिन मेरा पति ऐसा न करने पर हमेशा मुझे पीटता था।

वह हमेशा मुझे अपने सभी दोस्तों और उनकी पत्नियों के साथ शराब पिलाने की जिद करता था। वह इस बात से नफरत करता था कि मैं शांत रहती हूं जबकि बाकी दूसरे लोग नशे में होकर बहुत मौज-मस्ती करते हैं।

इतना ही नहीं, मैं जब भी उससे शराब न पीने के लिए मना करती थी, तो उसका गुस्सा बढ़ता ही जाता था। एक समय हमारे बीच ऐसा भी आया, जब वह मुझसे निराश हो गया था। इस एक बात को लेकर हमारे बीच अक्सर झगड़े भी होने लगे थे। वह हमेशा इस बात को कहता था कि मैं मजेदार नहीं हूं।

यह सब सुनकर मुझे बहुत बुरा लगता था, लेकिन इसके बाद भी मैं हमेशा चुप रही। जब हमारे बीच झगड़े ज्यादा बढ़ने लगे तो, उसने मुझे अपने साथ बाहर चलने के लिए कहना भी बंद कर दिया। उस दौरान हम शायद ही कभी एक साथ बाहर गए थे।

एक दिन उसने मुझसे कहा कि उसके दोस्तों ने एक बड़ी पार्टी प्लान की है, जिसमें हम दोनों को ही जाना जरूरी है। ऐसे में मैं खुशी-खुशी राजी हो गई। ऐसा इसलिए क्योंकि मुझे उसके साथ बाहर जाना था। ऐसे में फिर वो पल आया जब मुझसे शराब पीने के लिए कहा गया। हालांकि, इस दौरान मैं मॉकटेल के लिए तैयार हो गई।

लेकिन इस बार मेरे पति के दोस्तों की पत्नियों ने मेरा मजाक बनाते हुए कहा, 'आप कम से कम एक बार कोशिश क्यों नहीं करतीं? इस उम्र में इतना सावधान होने से तुम्हारा भला नहीं होगा।' भले ही हम उसके बाद सब हंसे, लेकिन मैं अपने पति को गुस्से में देख सकती थी।

ऐसे में जब हम उस रात घर लौटे, तो मेरे पति ने मुझ पर चिल्लाना शुरू कर दिया। उसने मुझसे कहा कि तुम्हें बाहर ले जाने में मुझे शर्मिंदगी महसूस होती है। मैं तुम्हारे साथ कभी भी बाहर नहीं जाना चाहता। उसकी ये बात सुनकर मेरी आंखों में आंसू आ गए। इस दौरान मैंने अपने कैबिनेट से वोडका की एक बोतल ली और उसी क्षण उसके सामने एक गिलास गटक लिया।

यह सब देखकर मेरा पति हैरान रह गया, लेकिन उसने कुछ नहीं कहा। वह कमरे में गया और अपना तकिया और कम्बल लेकर दूसरे कमरे में सोने चला गया। जैसे ही मैं अपने बिस्तर पर पहुंची, तो मेरा दिमाग घूमने लगा। अचानक वोडका पीने पर मुझे चक्कर आ गया था।

उस रात के बाद से मैंने अपने पति के साथ शराब पीना शुरू कर दिया। इस घटना के बाद वह मुझे अपने दोस्तों और उनकी पत्नियों के साथ हर पार्टी में ले जाने लगा। मैं अब दूसरे लोगों की तरह खूब पीती हूं। मेरी इस आदत से मेरा पति भी बहुत ज्यादा खुश है। सच कहूं तो मुझे पीने से नफरत है, लेकिन मेरे पास इसके अलावा कोई चारा भी नहीं है।

Tags:
Next Story
Share it